ज़रा हटके दुनिया की सबसे सुन्दर राजकुमारी, इनके बारे में जानकर उड़ जायेगे होश..

Share

रानी विक्टोरिया के तख़्त पर चमकने वाला कोहिनूर हीरा भी हमारे देश की पहचान है क्युकी अंग्रेज हमारे देश से कोहिनूर हीरा ब्रिटेन ले गए थे जिसके बाद से वो अंग्रेजो का ही हो गया| हमारा भारत एक समय में सोने की चिड़िया कहलाता था मगर मुहम्मद गौरी ने पूरे देश को लूट लिया जो कसर बच गयी वो अकबर मुल्क या अंग्रेज ले गए भारत को सोने की चिड़िया यु ही नहीं कहा जाता था .आपको बता दे की हम उस देश में रहते है जहा फसलों से लेकर आर्थिक स्थिति भी बहुत मजबूत थी मगर धीमे धीमे कांग्रेस का शाशन देश के हर वर्ग को खता गया.

और वो अपनी झोलिया भरते गए और एक समय ऐसा आ गया जहा कांग्रेस ने पूरी तरह से भारत में सत्ता का असर दिखा कर पूरा खोखला कर दिया, और अब हमारे देश की महिलाओ के समेत अमीरी सिर्फ आम की ही रह गयी लेकिन आज जिस पोस्ट के बारे में हम आपको बताने जा रहे है वो आपके माथे पर पसीना ला देगी जी हां आज हम आपको उन रानियों के बारे में बताने जा रहे है जो सुनिया में सबसे खूबसूरत और अमीर है.

सऊदी अरब की राजकुमारी अमेराह अल-तवेली के बारे में, वे जितनी सुन्दर हैं उनके कारनामे भी उतने ही सुन्दर हैं. इनका जन्म 6 नवंबर 1983 को सऊदी अरब में हुआ था. बता दे की साउदी अरब विश्वा का ऐसा देश है, जिसका कानून इतना सख्त है की लोग सऊदी के कानून से बहुत डरते है. ये अल-वालीद बिन तलाल फाउंडेशन की उपाध्यक्ष है और सिलटेक बोर्ड की सदस्य भी हैं। इन्होने न्यू हेवन विश्वविद्यालय से बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन की डिग्री प्राप्त की है.

आपको बता दे की साउदी की यह राजकुमारी एक मानवतावादी श्रंखला संघठन की अध्यक्ष भी है उनका मानना है की देश में सभी को मिल जूल कर रहना चाहिए साथ ही आदमी को आदमी के काम आना चाहिए यही मानवता है उनको मुल्क की सबसे अमीर राजकुमारियों में माना जाता है उनके कई गजो में खुद की जागीर भी है.

आपको बता दे की वो महिलाओ को पढ़ाना चाहती है बल्कि वो महिलाओ के सशक्तिकरण के लिए काम भी कर रही है जहा महिलाओ को पढ़ाया जाता है. उनकी शिक्षा का काम देखा जाता है किंगडम होल्डिंग कंपनी की अध्यक्षता के रूप में, वह दुनिया भर की चुनौतियों को बेहतर ढंग से समझने के प्रयास में अलवालीद बिन तल्लाल फाउंडेशन की ओर से बड़े पैमाने पर यात्रा करतीं हैं.

आपको बता दे की साउदी की ये रानी महिलाओ की शिक्षा दीक्षा के लिए सालाना 2 करोड़ से ज्यादा खर्च करती है अब तक केवल महिलाओ की उन्नति के लिए इन्होने 77 देशो का दौरा भी किया है जगह जाकर इन्होने उन देशो की उन महिलाओ की प्रोन्नति का काम किया है उन्हें उस जगह से निकल कर उन्हें शिक्षा दी जिस से वो आगे बढ़ सके और समाज को अपने अनुसार चला सके.

ये एक संघठन की अध्यक्ष भी है.

महिला सशक्तिकरण पर जोर

77 से ज्यादा देश घूम चुकी है महारानी

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *