ਸੱਪ ਦੇ ਕੱਟਣ ਤੇ ਕਰੋ ੲਿਹ ੳੁਪਾਅ,,ਪੜੋ ਤੇ ਸ਼ੇਅਰ ਕਰੋ

Share

ਜੇ ਤੁਹਾਨੂੰ ਇਹ ਆਰਟੀਕਲ ਚੰਗਾ ਲਗੇ ਤਾ ਇਸ ਨੂੰ share ਜਰੂਰ ਕਰੋ ਅਤੇ ਹੋਰ ਪੰਜਾਬੀ ਆਰਟੀਕਲ ਵੇਖਦੇ ਰਹਿਣ ਲਾਏ ਸਾਡਾ ਫੇਸਬੁੱਕ ਪੇਜ਼ ਲਾਇਕ ਕਰੋ ਜੀ ਜਰੂਰ ਲਾਇਕ ਕਰੋ ,ਅਸੀਂ ਹਮੇਸ਼ਾ ਸਹੀ ਤੇ ਨਿਰਪੱਖ ਜਾਣਕਾਰੀ ਦੇਣ ਦੀ ਤੁਹਾਨੂੰ ਕੋਸ਼ਿਸ਼ ਕਰਦੇ ਹਾਂ , ਸਾਡੇ ਨਾਲ ਜੁੜਨ ਲਈ ਤੁਹਾਡਾ ਧੰਨਵਾਦ ਜੀ

दोस्तों दुनिया 550 सांपो की प्रजातियां पाई जातीं हैं। जिनमे से 540 सांप जहरीले नही होते हैं। इन साँपो के काटने से मनुष्य की मृत्यु नही होगी। बाकि के बचे जो 10 सांप हैं वो इतने जहरीले होतें है कि उनके काटने से मनुष्य की मृत्यु हो जाती है।

एक बात सच बता देना चाहता हूं किसी सांप के काटने के बाद से 3 घण्टे तक इंसान जीवित रह सकता है। ऐसा इसीलिए होता है क्योंकि जब किसी स्थान पर सांप काटता है तो वह सबसे पहले खून के माध्यम से हृदय में पहुँचता है। फिर हृदय से पूरे शरीर मे सांप का जहर फैल जाता है। जिस समय सांप का जहर पूरे शरीर मे फैलता है तो उसी समय रोगी की मृत्यु होती है। जब तक सांप का जहर पूरे शरीर में नही फैलेगा तब तक रोगी की मृत्यु नही होगी। सांप का जहर पूरे शरीर में फैलने के लिए 3 घण्टे का समय लगता है। इसका मतलब यह है कि इंसान 3 घण्टे तक नही मर सकता। अगर आप इन 3 घण्टे में थोड़ा होशियारी से काम लेंगे तो आप रोगी की जान आसानी से बचा सकतें हैं। सांप के काटने पर रोगी को पिलाये जाने वाली कौन सी दवाई आती है और उसको रोगी को कैसे पिलाना है यह जानने के लिए इस खबर को पूरी पढ़ें।

कौन-सी दवा लेनी है

सांप काटने की सिर्फ एक मात्र दवा आती है जिसका नाम ‘नाज़ा-200’ है। यह दवा सिर्फ होमियोपैथी की दुकान पर मिलती है। आप किसी होमियोपैथी की दुकान पर जाइये और कहिये की मुझे नाज़ा-200 दे दो तो वह तुरन्त आपको दे देता है। यह दवाई की 5मिलीलीटर की कीमत लगभग 50 से 60 रुपये होती है। इस दवा का उपयोग तभी करना है जब आपको पूरी तरह से कन्फर्म हो जाये कि आपको जहरीला सांप ने काटा हो। क्योंकि नाज़ा-200 दुनिया के सबसे खतरनाक सांप का जहर होता है। एक कहावत प्रचलित है कि लोहा को लोहा ही काटता है। इसीलिए आयुर्वेद में कहा गया है कि जब किसी इंसान के शरीर में एक सांप का जहर चला जाता है तो उस रोगी को बचाने के लिए दूसरे सांप का जहर काम आता है। इसीलिए जब पूरी तरह से यह कंफर्म हो जाये कि जहरीला सांप ने काटा है तभी नाज़ा-200 से रोगी का उपचार करें।

रोगी को दवा किस तरह देनी है-

अगर किसी को सांप काटें तो सबसे पहले यह पहचानना जरूरी है। कि कौन सा सांप काटा है अगर कोई बिना जहरीला सांप काटा है तो कोई दिक्कत नही है आप उस काटे हुए स्थान को किसी ब्लेड से काटकर उसका सारा बिष निकल दें। अगर आपको कोई जहरीला सांप ने काटा है तो सबसे पहले आप नाज़ा-200 की एक-एक बूंद हर दस-दस मिनट में रोगी के जीभ पर डालना है। बस रोगी का जान बचाने के लिए इतना काफी है। उसके बाद रोगी को खुली हवा दें। तो दोस्तों सिर्फ 50 रुपये से रोगी की जान बच सकती है।

ਜੇ ਤੁਹਾਨੂੰ ਇਹ ਆਰਟੀਕਲ ਚੰਗਾ ਲਗੇ ਤਾ ਇਸ ਨੂੰ share ਜਰੂਰ ਕਰੋ ਅਤੇ ਹੋਰ ਪੰਜਾਬੀ ਆਰਟੀਕਲ ਵੇਖਦੇ ਰਹਿਣ ਲਾਏ ਸਾਡਾ ਫੇਸਬੁੱਕ ਪੇਜ਼ ਲਾਇਕ ਕਰੋ ਜੀ ਜਰੂਰ ਲਾਇਕ ਕਰੋ ,ਅਸੀਂ ਹਮੇਸ਼ਾ ਸਹੀ ਤੇ ਨਿਰਪੱਖ ਜਾਣਕਾਰੀ ਦੇਣ ਦੀ ਤੁਹਾਨੂੰ ਕੋਸ਼ਿਸ਼ ਕਰਦੇ ਹਾਂ , ਸਾਡੇ ਨਾਲ ਜੁੜਨ ਲਈ ਤੁਹਾਡਾ ਧੰਨਵਾਦ ਜੀ

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *